जितेंद्र का बैग ही बन गया उसकी मौत का कारण

गाजीपुर/सैदपुर। कब किसकी और किस वजह से सांसों की डोर टूट जाए, कुछ कहा नहीं जा सकता है। कुछ ऐसा ही मामला रविवार को सैदपुर नगर में प्रकाश में आया। कोतवाली के सामने सुबह बस से उतरते समय बैग फंस जाने से युवक बस की चपेट में आ गया। पिछला पहिया युवक के उपर चढ़ जाने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

उचौरी गांव निवासी जितेंद्र कुमार 18 पुत्र मुन्ना लाल अपने चचेरे भाई रोशन के साथ इलाहाबाद में रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करता था। दो भाईयों में छोटा जितेंद्र व रोशन वहां से छुट्टी लेकर घर आने के लिए निकले थे। इलाहाबाद से वह लखनउ पहुंचे और वहां से वह सैदपुर के लिए आ रहे थे। कोतवाली के सामने से उचौरी जाने के लिए दोनों भाइयों के उतरने के लिए वहां बस रुकी। पहले रोशन उतरा और उसके बाद जितेंद्र उतर रहा था। इसी बीच पीठ पर लटका उसका बैग बस के हत्थे में फंस गया। तभी बस चालक ने बस चला दिया। जिसके कारण जितेंद्र बस से घसीटाने लगा। इसके बाद वह बस के पहिये के नीचे आ गया। मौके पर मौजूद लोगों ने यह दृश्य देखकर शोर मचाना शुरू कर दिया। चालक ने बस को कुछ देर के लिए रोका, लेकिन पीछे का नजारा देखकर वह मय बस मौके से फरार हो गया। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। घटना के बाद थाने में लोगों की भीड़ लग गई। उसके साथ उतरे चचेरे भाई रोशन की ओर से अज्ञात चालक के खिलाफ तहरीर दी गई। मृतक के पिता मजदूरी करके परिवार का खर्च चलाते हैं।

सैदपुर। हादसे के बाद बसपा प्रत्याशी राजीव किरण कोतवाली में पहुंचे और जितेंद्र के परिजनों को ढांढस बंधाया। उन्होंने कोतवाल से वार्ता करके जल्द से जल्द आरोपी चालक को गिरफ्तार करने की मांग की। इसके साथ ही उन्होंने मृतक के परिजनों की आर्थिक सहायता भी की। इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष जितेंद्र मानव, रमेश प्रजापति आदि लोग मौजूद रहे।