पूर्व पर्यटन मंत्री ओमप्रकाश के कोपभाजन का शिकार परियोजना निदेशक पर मुकदमा दर्ज

गाजीपुर। पर्यटन विभाग की परियोजनाओं में करोड़ों रुपये के घोटाले सामने आए है। इस मामले में पर्यटन विभाग ने मंगलवार की रात गहमर थाने में कार्यदायी सस्था राजकीय निर्माण निगम के तत्कालीन परियोजना निदेशक डीपी सिंह सहित कई अधिकारियों व ठेकेदारों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया।
प्रदेश के तत्कालीन पर्यटन मंत्री ओमप्रकाश सिंह ने अपने जनपद में पर्यटन स्थलों व महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों का विकास कराने के लिए अरबों रुपये का ड्रीम प्रोजेक्ट लाया था। उनकी विकास गाथा को कार्यदायी संस्था के अधिकारियों ने ठेकेदारों के साथ मिलकर बंदरबाट कर दिया था। जिसकी जानकारी होने पर ओमप्रकाश सिंह के निर्देश पर परियोजना निदेशक डीपी सिंह को दोषी पाते हुए निलंबित कर दिया गया था। पर्यटन मंत्री ने डीपी सिंह के कार्यकाल में कराए गए सभी कार्यो की जांच कराने के निर्देश दिए थे। विधानसभा चुनाव के बाद जमानियां विधायक सुनीता सिंह ने भी पर्यटन विभाग में हुए घोटाले की जांच की मांग पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी से की थी। ऐसा बताया जा रहा है। वाराणसी के कमिश्नर नीतीन रमेश गोकर्ण के निर्देश पर जांच कमेटी गठित की गयी। कमेटी के सदस्य परियोजनाओं का मौके पर पहुंचकर जांच किए तो चौकाने वाले घटनाक्रम सामने आए। उसके बाद संयुक्त निदेशक वाराणसी अभिनाश चंद्र मिश्र ने गहमर थाने पहुंचकर घोटाले में शामिल इंजीनियरों व ठेकेदारों के खिलाफ तहरीर दी।
इन मामलों में घोटाले की बात सामने आई है उसमें कामाख्या धाम में पर्यटन विकास के साथ ही सेवराई, परेमन पोखरा, कीनाराम स्थल देवल, देवकली में पर्यटन विकास की परियोजना शामिल है। इन परियोजनाओं के लिए करीब आठ करोड़ रूपयों की स्वीकृति पर्यटन मंत्री ओमप्रकाश सिंह के द्वारा कराई गई थी। इस कार्य का भुगतान भी हो गया था। जबकि मौके पर छ करोड़ 99 लाख 84 हजार रुपये से अधिक का घोटाला पाया गया। जो बिना कार्य कराए ही अधिकारियों व ठेकेदारों की मिलीभगत से निकाल दिया गया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद राजकीय निर्माण निगम में हड़कंप मच गया है।
क्या बोले ओमप्रकाश
पूर्व पर्यटन मंत्री ओमप्रकाश सिंह ने बेबाक मीडिया को बताया कि राजकीय निर्माण निगम के निदेशक डीपी सिंह को निर्माण कार्यों में गड़बड़ी पाए जाने पर मेरे निर्देश पर निलंबित किया गया था। उसकी जांच सपा सरकार के समय से ही चल रही थी।