गुडवर्क: दो बदमाश चढ़े पुलिस के हत्थे

गाजीपुर। एसपी अरविंद सेन की सख्ती लगातार जारी है।  उनके निर्देश पर पुलिस व क्राइम ब्रांच की ओर से लगातार अपराधियों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। इसी क्रम में बुधवार की सुबह रेवतीपुर थाना क्षेत्र के रामपुर पुलिया के पास से क्राइम ब्रांच व पुलिस को एक बड़ी सफलता हाथ लगी।पुलिस व क्राइम ब्रांच को मुखबीर के जरिये सूचना मिली कि दो बदमाश रेवतीपुर क्षेत्र में आ रहे हैं। इसके बाद पुलिस व क्राइम ब्रांच के सदस्य हरकत में आ गये। घेराबंदी करके पुलिस व क्राइम ब्रांच की टीम ने रामपुर पुलिया के पास एक बाइक पर सवार दो बदमाशों को दबोच लिया। पुलिसिया पूछताछ में बदमाशों ने जौनपुर के चंदवक थाना क्षेत्र के बहीरी गांव निवासी मनोज यादव उर्फ पहलवान तथा वाराणसी जनपद के चौबेपुर थाना क्षेत्र के धरहरा खुर्द निवासी संजय मिश्रा के रूप में अपनी पहचान बताई। इनके पास से चोरी का ए‍क बाइक, चार जिंदा कारतूस व दो तमंचा बरामद हुआ। पुलिस लाइन में मनोरंजन कक्ष में प्रेसवार्ता में पुलिस अधीक्षक अरविंद सेन ने बताया कि पकड़े गये दोनों बदमाशों के उपर एक दर्जन हत्‍या व लूट के मुकदमे दर्ज हैं। मनोज यादव उर्फ पहलवान पर पुलिस उप महानिरीक्षक द्वारा 12 हजार का इनाम घोषित था। गिरफ्तार अभियुक्‍त मनोज यादव अपने साथियों के साथ मिलकर 9 दिसंबर 2015 को सादात थाना क्षेत्र के मीरपुर निवासी मीरी राम को सरैया नहर पुलिया के पास गोली मारकर हत्‍या कर दिया था। इसके साथ ही 20 दिसंबर 2015 को सैदपुर कोतवाली क्षेत्र के अमुआरा के पास व्‍यापारी वसूली कर घर लौट रहा था उस समय व्‍यापारी को गोली मारकर रुपयो से भरा बैग लेकर भाग गया था। जिसके बाद से मनोज फरार चल रहा था। वहीं बदमाश संजय मिश्रा ने 2006 में अपने साथियों के साथ मिलकर चौबेपुर थाना क्षेत्र के चंद्रावती बाजार में सेवानिवृत्‍त जेलर रामाधार राम की गोली मारकर हत्‍या कर दिया था। मनोज ने बताया कि सगे मामा कन्‍हैया यादव ने मेरे उपर फर्जी मुकदमा में फंसा दिया था। तभी से मैं अपराध की दुनिया में उतर गया। पुलिस के रिकार्ड में मनोज के खिलाफ वाराणसी, गाजीपुर, जौनपुर में दस मुकदमे है। लेकिन इसने अपराध दो दर्जन से अधिक किया है।