पीएम के आगमन पर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के पुनः शिलान्यास का विरोध करेंगे गाजीपुर के सपाई

गाजीपुर। पीएम मोदी द्वारा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के पुनः शिलान्यास कार्यक्रम का विरोध गाजीपुर के समाजवादी करेंगे। इसके लिए जिलाध्यक्ष डा. नन्हकू यादव की अध्यक्षता में समता भवन में गुरुवार को एक बैठक हुई। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि पुनः शिलान्यास किये जाने के विरोध में 14 जुलाई को समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता कासिमाबाद थाने के सामने मैदान में एक विरोध जनसभा आयोजित करेंगे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राज्यसभा सदस्य नीरज शेखर ने कहा कि पूर्वांचल में विकास का रास्ता खोलने के लिए अखिलेश यादव ने लखनऊ से बलिया माझीघाट तक समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण करने का निर्णय लिया था। इसके लिए 50 प्रतिशत किसानों की जमीन अधिग्रहित कर ली गयी थी। इस एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास 22 दिसंबर 2016 को तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के हाथों हो चका था। इसके बावजूद पुनः शिलान्यास किया जा रहा है। यह मोदी जी की छोटी सोच एवं संक्रिण मानसिकता का परिचायक है। उन्होने कहा कि 14 जुलाई को हम कासिमाबाद में एक विरोध सभा करेंगे। नीरज शेखर ने समाजवादी सरकार की अपेक्षा 21 करोड़ लागत कम होने की सीएम योगी के बयान का चर्चा करते हुए कहा कि योगी जी का कथन असत्य है यह लागत एक्स प्रेस-वे की दूरी कम करने से घटी है। क्योंकि यह एक्सप्रेस-वे जो पहले बलिया से माझीघाट तक बनने वाला था अब गाजीपुर के जिले से ही शुरु होगा। उन्होने कहा कि भाजपा झूठ एवं फरेब की कोख से पैदा हुई है। झूठ बोलना एवं झूठ काटना ही इनका धर्म-कर्म रह गया है। इनके झूठ से सावधान रहने की जरुरत है। बैठक में विधायक डा. विरेंद्र यादव, पूर्व सांसद जगदीश कुशवाहा, पूर्व एमएलसी बच्चा यादव, जयहिंद यादव, जिला पंचायत प्रतिनिधि विजय यादव, डा. समीर सिंह, राजेश कुशवाहा, सदानंद यादव आदि लोग उपस्थित थे।